Wednesday, May 12, 2010

यार विकी , अपना नाम रख ले लकी । कहने के लिए तो होगा । वरना तुझे पता है एक्टर होना कितनी बड़ी खता है । बाबू जी ने मोबाइल पर पूछा ,क्या कर रहे हो मैंने कहा वेटिंग फॉर गोदो । कहने लगे दलते रहो कोदो। नहीं कुछ कर रहे तो वापस आ जाओ गांव में जमीन है उसे ही जोतो । कब तक पड़े पड़े सड़ते रहोगे। छोटे से रोल के लिए घुट घुट के मरते रहोगे। आंख के अंधे हो नाम है नयन तारा। यहां तो बुर्जुआ थे ,वहां बन गए सर्वहारा ।